15 अनमोल वचन

                                                                       नमस्कार साथियों अनमोल वचनों का हमारे जीवन में बहुत ही महत्व है यह हमारे जीवन के गूढ़ रहस्यों को सुलझाने के अलावा , जीवन में नई राह भी दिखाता है । यहाँ पर हम आपको कुछ ऐसी ही बातों को बता रहे हैं ।

अनमोल वचन 01
 ” कभी कभी ठोकरें भी अच्छी होती हैं , एक तो रास्ते की रुकावटों का पता चलता है  । और दूसरा संभालने वाले हाथ किसके हैं , ये भी पता चलता है. । “
  अनमोल वचन 02
              “आनंद एक आभास  है , जिसे हर कोई ढूंढ रहा है। दु:ख एक अनुभव है , जो आज सबके पास है  । फिर भी जिंदगी में वही कामयाब है , जिसको खुद पर विश्वास  है । “
     अनमोल वचन  03
 ” जन्म से ना तो कोई दोस्त पैदा होता है ,और ना ही कोई दुश्मन, वह तो हमारे घमंड, ताकत या व्यवहार से बनते है। “
अनमोल वचन 04
 ” ज़िंदगी को अगर खुल कर जीना है तो , थोडा सा झुक कर जियो, तब देखो फिर, ये ईश्वर आपको कितना ऊँचा उठा देंगा. । “
     अनमोल वचन   05
  ”  कुछ लोग मिलकर बदल जाते हैं , और कुछ लोगों से मिलकर जिन्दगी बदल जाती है। “
अनमोल वचन 06
                                                 ”  लोग समझते है,कि नरम दिल वाले बेवकूफ होते है , जबकि सच्चाई यह है  , कि नरमदिल वाले बेवकूफ नही होते ।  बल्कि वे बखूबी जानते हैं , कि लोग उनके साथ क्या कर रहे है । पर हर बार लोगो को माफ़ करना , ये जाहिर करता है, कि वो एक खूबसूरत “दिल “के मालिक हैं । और वे रिश्तो को संभालना बखूबी जानते हैं । “
अनमोल वचन  07
                “क्षमा  उन फूलों कि तरह है , जो कुचले जाने पर भी खुशबू  देना नहीं भूलते .। “
अनमोल वचन 08
                               ” बड़प्पन  वह गुण है,जो पद से नहीं संस्कारों से प्राप्त होता है। “
अनमोल वचन  09
                                ” परायों को अपना बनाना उतना मुश्किल नहीं है ,जितना अपनों को अपना बनाए रखना । “
अनमोल वचन  10
                                 ” जो आप से जलते हैं उनसे घृणा कभी न करें। क्योंकि यही तो वह लोग हैं, जो यह समझते हैं कि आप उनसे बेहतर हैं । “
    अनमोल वचन   11
                                     ” हमेशा खुश रहना  चाहिए क्योंकि परेशान होने से कल की मुश्किल दूर नहीं होती बल्कि आज का सुकून भी चला जाता है । “
अनमोल वचन  12
                                                                 “पुल “और “दीवार ” दोनों के निर्माण में एक जैसी  सामग्री लगती है लेकिन “पुल” लोगों को जोड़ने का काम करता है और”दीवार “अलग करने का काम करती है। “इन्सान ” भी मालिक ने एक जैसे ही बनाये हैं ।कौन कैसा “व्यवहार” करता है यह उसके “संस्कारों” पर निर्भर है  । “
अनमोल वचन 13
                                            ” वक़्त,दोस्त और रिश्ते वो चीजें हैं ,जो मिलती तो मुफ्त  हैं ,
   मगर इनकी कीमत का पता तब चलता हैं , जब ये कहीं खो जाती हैं । “
    अनमोल वचन 14
                                                  किसी की “सलाह” से रास्ते जरूर मिलते हैं, पर मंजिल तो खुद की “मेहनत” से ही मिलती है । “प्रशंसक” हमें बेशक पहचानते होंगे.. मगर” शुभचिन्तकों ”  की पहचान खुद को करनी पड़ती है ।”
अनमोल वचन 15
            ”  अगर किसी भी मोड़ पर मै बुरा लगूं ,तो ज़माने को बताने से पहले ,
एक बार मुझे जरूर बता देना ,क्योंकि बदलना मुझे है  , ज़माने को नहीं। “

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *